लिंक 
रदीफ़शीर्षकडाउनलोडप्ररूप
1आके खे़मे में कहा शह ने के ख्वाहर अलविदाdownloadicon-8
2इतरते आले नबीdownloadicon-8
3ऊदू की फौज में कत्ले शहे बे कस का सामाँ हैdownloadicon-8
4एै मोमिनो जिस माह में मारे गए सरवर - उसकी है यकुम आजdownloadicon-8
5खिची हैं तेग़ के हैं चर्ख पर हिलाले अज़ाdownloadicon-8
6ग्यारहवीं माहे अज़ा को हुक्में इब्ने साद सेdownloadicon-8
7जब वतन से कर्बला में शाहे वाला आ गएdownloadicon-8
8जब हुआ हल्क़े अली असग़र निशाना तीर काdownloadicon-8
9जहाँ में आज इब्ने साक़िए कौसर का सुय्यम हैdownloadicon-8
10जहाँ में इब्ने साक़िये कोसर का चेहलुमdownloadicon-8
11तशते पुरखूँ में नज़र जब शाह का सर आ गयाdownloadicon-8
12तीसरी माहे अज़ा की आयी जब एै मोमनीनdownloadicon-8
13तुरबते बेशीर पर कहती थी माँ असग़र उठोdownloadicon-8
14दूसरी माहे मर्होरम की है रोएँ मोमिनीयंdownloadicon-8
15प्यास अतफ़ाले शहेदीं की बुझाने के लिएdownloadicon-8